क्रिकेट में टाइम आउट क्या है? एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

क्रिकेट एक बड़ा ही दिलचस्प खेल यह दिलों को दिलों से जोड़ता है और कभी कभी न चाहते हुए अपने अजीबोगरीब नियमों से कई मासूम दिलों को तोड़ भीं देता है, क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल तो आपको याद ही होगा, जहा विजेता का फैसला बाउंड्री के गिनती के अंतर से हुआ था, फैसला तो नियमों के अनुरूप ही हुआ था

लेकिन इसमें नैतिकता कदापि नही था, इसी बहस में पूरा क्रिकेट जगत दो धड़ों में बट चुका था, आधे ने इस नियम का सही पालन तों आधे ने इसे स्पिरिट ऑफ क्रिकेट के खिलाफ बताया था, फलस्वरूप नियमों ने परिवर्तन तो हुए लेकिन तब तक बहुत देरनहो चुकी थी न्यूजीलैंड अपना पहला खिताब जीतने के इतने करीब पहुंचकर भी हार गई थी।

यदि आप एक सच्चे क्रिकेट फैन है तो आपको IPL का वह मैच तो जरूर याद होगा जहा भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अंग्रेजी बल्लेबाज जॉस बटलर को मांकडिंग आउट किया था, सभी को लगा था की अश्विन अपना अपील वापस ले लेंगे और बटलर को पुनः मैदान में आमंत्रित करेंगे, लेकिन अश्विन का कहना था की उन्होंने जो किया वह नियमों के अनुरूप है,

क्रिकेट पुनः दो धड़ों में बट गया, अश्विन को बहुत सी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा, परंतु सर्वे से देखा गया की बहुत से बल्लेबाज नॉन बैटिंग छोर से गेंद फेकने से पूर्व ही क्रीज छोड़ देते थे जिससे तेजी से रन पूरा किया जा सके, नियमों के इस दुरुपयोग को देखते हुए आईसीसी में मांकड़िंग को नियमों की सूची में शामिल किया,

अगर आप क्रिकेट को 15 साल से पहले से देखते होंगे तो आप ने ध्यान जरूर दिया होगा की पहले जब कोई बल्लेबाज चोटिल होता था और रन लेने में असमर्थ होता था तो उसे रनर प्रदान किया जाता था, लेकिन कुछ खुराफाती लोगो ने इस नियम की धज्जियां उड़ा दी, जहा बल्लेबाज बिना किसी इंजरी के तेज रनर ले लेते थे जिससे गेंदबाजी दल नाखुश होता था,

बाद में इसे नियमों में शामिल किया गया की बल्लेबाज को अतिरिक्त रनर नही दिया जाएगा, चोटिल होने पर वे मैदान से बाहर आ जाए तथा आवश्यकता पड़ने पर पुनः बल्लेबाजी करने उतरे।

तो जैसी की आप देख पा रहे होंगे कि इसमें न तो क्रिकेट खेल की कोई गलती है न इसके नियमों की, यदि दोष किसी का है तो उनकी जिन्होंने नियमों को अपने फायदे के लिए तोड़ मरोड़कर प्रयोग किया।

क्रिकेट में टाइम आउट क्या है? एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?
क्रिकेट में टाइम आउट क्या है? एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?

क्रिकेट में बल्लेबाज कितने तरीकों से आउट हो सकता है?

क्या आपको पता है की परंपरागत क्रिकेट में एक बल्लेबाज कितने तरीको से आउट हो सकता है तो इसका जवाब है की बल्लेबाज कुल 8 तरीको से आउट हो सकता है

1. क्लीन बोल्ड :– यदि गेंदबाज एक लीगल गेंद से बल्लेबाज के विकेटों को भंग कर दे तो बल्लेबाज को क्लीन बोल्ड आउट करार दिया जाएगा।

2. कैच आउट :– जब गेंदबाज कोई लीगल गेंद करता है और गेंद, बल्लेबाज के बल्ले के संपर्क में आकर हवा में होता है और कोई क्षेत्ररक्षक उस गेंद को भूमि के संपर्कन्मे आने से पहले लपक ले तो बल्लेबाज कैच आउट हो जाता है, इसके भी तीन प्रकार होते है, पहला सामान्य कैच आउट जिसकी परिभाषा उपर्युक्त है, दूसरा कॉट बिहाइंड विकेट इसमें बल्ले से संपर्क के बाद गेंद को विकेट कीपर लपकता है,और तीसरा है कॉट एंड बोल्ड इसमें बल्ले से संपर्क के बाद गेंद को गेंदबाज ही लपकता है।

3. पगबाधा विकेट :– जब गेंदबाज एक लीगल डिलीवरी करता है और गेंद बल्लेबाज के बल्ले और हाथ(पंजे से कोहनी तक के भाग) के अतिरिक्त किसी अन्य भाग को जा लगती है और अंपायर की दृष्टि व अनुमान में यदि वह गेंद विकेटों को जा लगती तो गेंदबाज के अपील में बल्लेबाज को आउट करार दिया जा सकता है, परंतु इसमें अंपायर को कुछ बिंदुओं को ध्यान में रखना होता है, जिसके बारे में हम किसी और ब्लॉग में चर्चा करेंगे।

4. रन आउट :– जब बल्लेबाज रन लेने की आकांक्षा से क्रीज को छोड़ता है और इस दौरान कोई क्षेत्ररक्षक विकेट को बिखेर देता तो बल्लेबाज को रनआउट करार दिया जा सकता है।

5. स्टंप आउट :– जब कोई गेंदबाज लीगल डिलीवरी करता है इसमें वाइडबाल भी शामिल है, और बल्लेबाज शॉट लगाने के प्रयास में क्रीज छोड़ देता है और गेंद विकेटकीपर के पास के दस्तानों में पहुंच जाती है और कीपर विकेटों को बिखेर देता है तो बल्लेबाज को स्टंप्ड आउट करार दिया जाता है

6. हिट विकेट :– जब बल्लेबाज एक जीवित गेंद के दौरान स्वयं से विकेट को भंग कर देता है तो उसे हिट विकेट आउट करार दे दिया जाता है।

7. ओब्सट्रक्टिंग द फील्ड :– जब बल्लेबाज क्रीज से बाहर होता है और क्षेत्ररक्षक को गेंद पकड़ने और विकेट पे मारने में जानबूझकर बाधा उत्पन्न करने का प्रयास करता है तो उसे फील्ड में बाधा उत्पन्न करने लिए आउट करार दिया जा सकता है।

8. हैंडलिंग द बाल :– जब बल्लेबाज एक जीवित गेंद को हाथ से पकड़ लेता है तो उसे हैंडलिंग द बाल आउट करार दिया जा सकता है।

9. मांकडिंग :– जब नॉन स्ट्राइकर बल्लेबाज, गेंदबाज के गेंद फेकने से पूर्व ही क्रीज छोड़ देता है और गेंदबाज विकेट को भंग कर देता है तो बल्लेबाज को मांकडिंग आउट दिया जाता है।

10. रिटायर्ड आउट :– आपने रिटायर्ड हर्ट के बारे में तो सुना ही होगा ये भी उससे मिलता जुलता ही है बस इसमें फर्क ये होता है की बल्लेबाज दोबारा बल्लेबाज करने मैदान में नही उतर सकता।

11. टाइम आउट :– जब कोई बल्लेबाज आउट होता है तो अगले बल्लेबाज को 2 मिनट के अंदर क्रीज पर मौजूद होना होता है यदि वह तय समय पर क्रीज में नही पहुंच पाता तो उसे टाइम आउट करार दे दिया जा सकता है। यह आउट होने का सबसे विरल तरीका है हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इस तरीके से आउट होने वाले श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज पहले खिलाड़ी बने।

अब तक सबसे ज्यादा क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने वाला देश कौन है?

क्रिकेट में टाइम आउट क्या है?

क्रिकेट में टाइम आउट का उपयोग किसी खिलाड़ी को आउट होने के बाद अगले बल्लेबाज को क्रीज पर मौजूद होने के लिए दिया जाता है। इस समय की सीमा सामान्यत: 2 मिनट होती है, लेकिन यह समय विस्तारित किया जा सकता है जब चिकित्सक की स्वीकृति होती है या अन्य विशेष परिस्थितियों के लिए।

एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?

एंजेलो मैथ्यूज की घटना में, वह हेलमेट के स्ट्रैप की टूटी हुई हालत को ठीक करवाने के लिए टाइम आउट का अनुरोध किया था, लेकिन उसे नियमित समय में क्रीज पर पहुंचने में संकट आया। इसलिए, उसे टाइम आउट करार दिया गया था और वह बिना बॉल खेले ही आउट हो गए थे। यह घटना क्रिकेट इतिहास में अद्वितीय मानी जाती है।

एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?
एंजेलो मैथ्यूज ने कैसे बिना बॉल खेले ही आउट हो गए?

ऐसा नही है की एंजेलो मैथ्यूज ही ऐसे पहले खिलाड़ी हो जो समय सीमा के अंतर्गत क्रीज में न पहुंचने वाले पहले खिलाड़ी है पहले भी बहुत से खिलाड़ी ऐसा कर चुके है, लेकिन गेंदबाजी दल के कप्तान चाहे तो अपना अपील खारिज कर उन्हे दोबारा खेलने के लिए बुला सकता है जिसे स्पिरिट ऑफ क्रिकेट का नाम दिया जाता है, लेकिन इस बार बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने नियम का हवाला देते हुए एंजेलो मैथ्यूज को जाने को कहा, जो नियमानुसार तो सही है पर खेल भावना की दृष्टि से देखा जाए तो मैथ्यूज के साथ अन्याय प्रतीत हुआ।

जिस समय शाकिब अल हसन ने Angelo Mathews को टाइम आउट किया था, मैथ्यूज की आंखें भर आई थी, मैथ्यूज ने कई बार शाकिब से अपील वापस लेने के लिए गुजारिश की, लेकिन शाकिब ने ना में हाथ हिला कर इनकार कर दिया। जब शाकिब 82 रनों पर खेल रहे थे और अपने शतक के बेहद करीब थे तो मैथ्यूज ने अपने गेंदबाजी के दौरान शाकिब को पवेलियन भेज कर शाकिब से अपना हिसाब तो बराबर कर लिया, किसी ने सही कहा है, जिंदगी अगर दूसरा मौका देती है तो उसका भरपूर फायदा उठाना चाहिए। एंजलो मैथ्यूज इंटरनेशनल क्रिकेट के इतिहास में टाइम आउट होने वाले पहले बल्लेबाज बन गए थे।

बांग्लादेशी कप्तान शाकिब अल हसन की जिद की वजह से एंजलो मैथ्यूज बगैर क्रीज पर पहुंचे ही आउट होकर पवेलियन लौट गए। अरुण जेटली स्टेडियम, नई दिल्ली में बांग्लादेश बनाम श्रीलंका मैच खेला जा रहा था।

बांग्लादेश ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। शाकिब अल हसन के 25वें ओवर की दूसरी गेंद पर समरविक्रमा कैच आउट हुए । क्रिकेट का नियम अनुसार नए बल्लेबाज को 2 मिनट के भीतर क्रीज पर पहुंच जाना चाहिए। एंजलो मैथ्यूज को एहसास हुआ कि हेलमेट का स्ट्रैप टूट गया है।

ऐसे में मैथ्यूज ने बगैर पूरी तरह क्रीज पर पहुंचे ही पवेलियन की तरफ हेलमेट का रिप्लेसमेंट भेजने का इशारा किया। इसी वक्त मौका देखकर शाकिब अल हसन ने टाइम आउट की अपील कर दी। अंपायर मराइस इरासमस ने क्रिकेट के नियम के तहत एंजलो मैथ्यूज को आउट करार दे दिया। अब तक शाकिब क्रीज पर आ चुके थे। एंजलो मैथ्यूज ने अंपायर और शाकिब दोनों से गुहार लगाई। शाकिब अल हसन ने अपनी अपील वापस लेने से साफ इनकार कर दिया।

एंजलो मैथ्यूज बौखलाकर वापस पवेलियन लौट गए। बांग्लादेश के सामने 280 का टारगेट था। एंजलो मैथ्यूज के 32वें ओवर की पहली गेंद पर शाकिब के बल्ले का किनारा लेकर फील्डर के हाथ में चला गया। शाकिब ने 65 गेंद पर 12 चौकों और 2 छक्कों के साथ 82 रन बनाए। जैसे ही शाकिब आउट हुए, एंजलो मैथ्यूज ने घड़ी की ओर इशारा किया, मानो कहना चाह रहे हों कि तुम्हारा समय समाप्त हुआ। 280 के लक्ष्य को बांग्लादेश ने 7 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया।

मैच तो शाकिब अल हसन की टीम जीत गई लेकिन बदले में कई विवादो से घिर गई, प्रेस वार्ता के दौरान शाकिब ने अपनी सफाई में क्रिकेट के नियमो का हवाला देते हुए कहा की ” यदि क्रिकेट के नियमो में ऐसा है तो मुझे ऐसा करने में कोई हर्ज नही होना चाहिए यदि वे(एंजेलो मैथ्यूज) आउट थे तो उन्हें आउट करार ही दिया जाना चाहिए।

वही मैथ्यूज ने भी प्रेस वार्ता के दौरान वीडियो प्रूफ प्रस्तुत करने की बात कही और कहा की ” जो हुआ वह खेल भावना की दृष्टि से सही नही था, मेरे मन में शाकिब के लिए जो इज्जत थी उसे शाकिब ने खो दी है”

मैथ्यूज ने जो आईसीसी के आधिकारिक टाइमर का वीडियो प्रूफ जारी किया है उससे साफ साफ नजर आ रहा है की बल्लेबाज समय सीमा के 5 सेकंड पहले ही क्रीज पर पहुंच चुके थे, खैर जो बीत गया उसे बदला तो नहीं जा सकता, दोनो टीमों के खिलाड़ी एक दूसरे से नाराज़ नजर आए, मैच खत्म होने के पश्चात हाथ मिलाने के प्रथा को भी नजरंदाज करते हुए अपने अपने ड्रेसिंग रूम की ओर चले गए, क्रिकेट के लिए यह नजारा अत्यधिक दुर्भाग्यपूर्ण था।

Leave a Comment

आईपीएल 2024 में हैट्रिक छक्का लगाने वाले खिलाड़ियों की सूची आईपीएल 2024 की सबसे तेज अर्धशतक लिस्ट IPL 2024 में किस भाई के आपने भाई को 4.5 करोड रुपए ठगा। सौतेले भाई वैभव ने ठगा हार्दिक और कुणाल पंड्या को 4.5 करोड रुपए आईपीएल 2024 में पहला शतक विराट कोहली