सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम कौन सी है? 2007-2024

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

द्वारा क्रिकेट की दुनिया में हम एक ऐसा मुकाबला की बात करेंगे जिसमें कम ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले मुकाबला है जो की यह T20 मैच होता है जो की इस मैच में 20-20 ओवर का या मैच खेला जाता है जो कि यह मैच आर पार की लड़ाई होती है जिस्म जिस टीम की परफॉर्मेंस अच्छी होती है वह टीम आगे तक जाती है यह मैच में बैटिंग बॉलिंग फील्डिंग तीनों जगह में काफी संघर्ष पूर्ण रहता है और रोमांचक मैच या T20 मैच को कहा जाता है क्योंकि इस मैच में कभी भी बाजी पलट जाती है लिए हम इस लेख में सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीतने वाले टीम कौन सी है इसके बारे में जानते हैं और साथ ही साथ यह जानने की भी कोशिश करेंगे की T20 क्रिकेट मैच प्रारंभ कब से हुआ है और ऐसे पहुंच से प्रश्न है जो आपको इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक जानकारी मिलेगा जिसमें T20 का विजेता T20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी, T20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा छक्के करने वाले खिलाड़ी कौन है ऐसे बहुत से प्रश्न है जो कि आपको इस लेख में एक विस्तार पूर्वक बताया गया है।

सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम कौन सी है?
सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम कौन सी है?

सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम कौन सी है?

T20 क्रिकेट का सबसे रोमांचक और आकर्षक प्रारूप माना जाता है इसकी शुरुआत 2004–05 में हुई, पहला t20 मैच ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच ऑकलैंड में खेला गया था, क्रिकेट के इस प्रारूप का सुझाव किसका रहा होगा यह तो नही पता परंतु जिसका भी रहा होगा यह एक बेहतरीन प्रयोग साबित हुआ, जिससे क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ी, और इस जेंटलमेंस गेम ने हार्डकोर गेम्स के शौकीन लोगो को अपनी ओर आकर्षित किया।

बहुत से क्रिकेट के पंडित इस प्रारूप से नाखुश थे , उनका कहना था इससे क्रिकेट एक शॉर्ट टर्म इवेंट बनकर रह जायेगा जब t20 क्रिकेट का पहला विश्वकप का आयोजन 2007 में दक्षिण अफ्रीका में होना था

तो बहुत से दिग्गज खिलाड़ियों ने इसमें भाग लेने से इंकार कर दिया, उनका कहना था की क्रिकेट का मूल प्रारूप टेस्ट क्रिकेट है और इससे उसकी लोकप्रियता कम होगी, खैर सोच अपनी वर्ल्ड कप तो खेलना ही था।

2007 में ODI क्रिकेट विश्व कप में भारत के निराशजनक प्रदर्शन से टीम अभी तक उबर भी पाई थी ऐसे में बीसीसीआई मैनेजमेंट ने पहले t20 वर्ल्डकप में भाग लेने ऐसे टीम को भेजा जो युवाओं से भरी थी परंतु अनुभव में भीं काफी कमजोर नजर आ रही थी, और उस युवा टीम की कमान सौंपी गई उस युवा कप्तान को जो भारत में क्रिकेट का स्वर्णिम युग लाने जा रहे थे,जी हा मैं बात कर रहा हु भारत में क्रिकेट को और भी लोकप्रिय करने वाले महेंद्र सिंह धोनी की ।भारत की टीम जहा अनुभव में काफी कमजोर नजर आ रही थी

ICC वर्ल्ड कप 2023 सबसे ज्यादा रन बनाने वाला खिलाड़ी कौन है ?

वही अन्य टीमों ने अपना सबसे मजबूत स्क्वॉड चुनकर भेजा था, लेकिन t20 का यह प्रारूप सभी के लिए नया था, धीरे धीरे सभी को समझ आ गया था की यदि इस प्रारूप में दबदबा कायम करना है तो खिलाड़ियों को और अधिक संघर्ष करना होगा, बैटिंग और बॉलिंग के अतिरिक्त फील्डिंग में मुस्तैदी से अपना योगदान देना होगा, चूंकि भारतीय टीम युवा थी अधिक फुर्तीली और जोश से परिपूर्ण थी

इसका फायदा उनको मिला, टीम ने इस खेल के बारीकियों को बेहतर ढंग से समझा और पहले t20 वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई जहा उनका सामना होना था अपने चिरप्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से, पाकिस्तान का भी प्रदर्शन पूरे वर्ल्ड कप में काफी शानदार रहा था,

मुकाबला भी काफी टक्कर का था गौतम गंभीर के जुझारू 75 रन की पारी के दम पर भारत ने पाकिस्तान के सामने 148 रनों का लक्ष्य रखा जो उस समय के पाकिस्तान जिस तरह के फॉर्म में थी उनके लिए काफी आसान प्रतीत हो रहा था, परंतु भारत के इरादे कुछ और ही थे इरफ़ान पठान की शानदार गेंदबाजी के प्रदर्शन और धोनी के चतुर फैसलों के कारण भारत ने यह मैच महज 5 रनों से जीता, खैर जीत तो जीत होती है, भारत वर्ल्ड चैंपियन बन चुका था,और भारतीय समर्थकों को जश्न मनाने का कारण मिल चुका था।

इसी तर्ज पर भारत में t20 क्रिकेट लीग आईपीएल की शुरुआत की गई, किसी ने उस समय नही सोचा रहा होगा की आईपीएल सफलता की किन किन ऊंचाइयों को छूने वाला है, आईपीएल से t20 क्रिकेट की लोकप्रियता और बढ़ी, और इसे बहुत पसंद किया जाने लगा और पुनः t20 वर्ल्ड कप के आयोजन की मांग उठी,

इस बार इस आयोजन की मेजबानी करने का सौभाग्य वेस्टइंडीज को प्राप्त हुआ, यह वर्ल्डकप का संस्करण भी पिछले वाले की तरह सफल रहा सभी टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया, सभी टीमें अब इस खेल को समझने लगीं थी, भारत अपने खिताब को बचाने में असफल रहा और लीग स्टेज से ही बाहर हो गया था, लेकिन इस बार भी फाइनल में दो एशियाई टीम ने ही जगह बनाई थी,

फाइनल का मुकाबला था पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच, दोनो ही टीम काफी मजबूत थी लेकिन वह दिन पाकिस्तान का था, लगातार दूसरी बार फाइनल में जगह बनाई और दूसरी बार में वर्ल्ड कप जीत भी लिया।

अब तक t20 क्रिकेट वर्ल्ड कप में एशियाई देशों का दबदबा था जिस पर जल्द ही विराम लगने वाला था क्योंकि अगले ही साल 2010 में फिर से t20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ इस बार मेजबानी इंग्लैंड को मिली जिन्हे होम ग्राउंड और ओवरकास्ट कंडीशंस का फायदा मिला और इंग्लैंड फाइनल में जा पहुंची उनके सामने थी ऑस्ट्रेलिया की मजबूत टीम जो अब तक t20 वर्ल्ड कप को डॉमिनेट करने वाली गत विजेता पाकिस्तान को सेमी फ़ाइनल में धूल चटाकर आई थी, फाइनल मैच रोमांचक और इंग्लैंड उस दिन बेहतर टीम बनकर सामने आई और पहली बार किसी भी icc इवेंट को जीता।

भारत ऑस्ट्रेलिया T20 मैच सीरीज टीम, स्थान, टाइम टेबल,इतिहास संपूर्ण जानकारी 2023 -2024
t20 क्रिकेट विश्व कप
t20 क्रिकेट विश्व कप

खिलाड़ियों के लिए अब क्रिकेट बहुत संघर्षशील होने वाला था और उनकी व्यस्थता बढ़ने वाली थी क्योंकि 2011 में odi वर्ल्डकप का आयोजन भारत में होने वाला था।

भारत ने इस वर्ल्ड कप को 28 साल बाद जीता, और आत्मविश्वास से परिपूर्ण था, और अगले साल होने वाले 2012 t20 वर्ल्ड कप के लिए तैयार था जिसका आयोजन श्रीलंका में होना था, उम्मीदों के विपरीत भारत,पाकिस्तान और गत विजेता इंग्लैंड पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई, श्रीलंका को होम कंडीशन का लाभ मिला और फाइनल में जा पहुंची परंतु इस बार भी उनकी किस्मत खराब निकली और वेस्टइंडीज के साथ हुए लो स्कोरिंग मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा, और वेस्टइंडीज पहली बार t20 वर्ल्ड कप का चैंपियन बन गई, वेस्टइंडीज को अपने आक्रामक खेलशैली का फायदा मिला तथा वे विश्व भर में बहुत अधिक t20 लीग क्रिकेट खेलते थे जिनका उन्हे फायदा मिला,

T20 वर्ल्ड कप 2014 की मेजबानी का सौभाग्य बांग्लादेश को मिला उम्मीद थी भारत को इन कंडीशंस का लाभ मिलेगा और हुआ भी ऐसा ही भारत वर्ल्ड कप के फाइनल में जा पहुंची जहा उनका सामना था पिछले संस्करण में फाइनल में हारने वाले श्रीलंका से , फाइनल में श्रीलंका का रिकॉर्ड कुछ खास अच्छा नही था,

सभी को लगा इस बार भी वे हार जायेंगे और भरत दूसरी बार चैंपियन बन जायेगा लेकिन श्रीलंका ने सभी को गलत साबित करते हुए और अपनी पुरानी गलतियों को न दोहराते हुए फाइनल में शानदार प्रदर्शन किया और भारत को हराकर चौथा t20 वर्ल्ड चैंपियन बन गया,

अगले t20 क्रिकेट विश्व कप 2016 का आयोजन भारत में ही होना था, भारत ने इस वर्ल्ड कप को डॉमिनेट किया और जीतने के लिए फेवरेट्स के रूप में उभरी लेकिन सेमी फाइनल में उनका सामना खतरनाक वेस्टइंडीज से हुआ जहा भारत ने कई मौके छोड़े और वेस्टइंडीज ने इसका लाभ उठाते हुए भारत को वर्ल्ड कप से बाहर का रास्ता दिखाया, और फाइनल में जा पहुंची जहा उनका सामना पूरी तरह से बदली हुई इंग्लैंड के मजबूत टीम से होना था, यह पहला मौका था

जब दोनो फाइन लिस्ट टीम एक एक वर्ल्ड कप पहले ही जीत चुकी थी लिहाजा यह स्पष्ट था की जो टीम इस वर्ल्ड कप को जीतेगी वह टीम t20 वर्ल्ड कप को 2 बार जीतने वाली पहली टीम बन जायेगी, मुकाबला भी काफी टक्कर का रहा खेल अपने आखिरी ओवर में आ पहुंचा था जहा वेस्टइंडीज को जितने के लिए 6 गेंदों में 19 रन चाहिए थे, जीत वेस्टइंडीज से काफी दूर था लेकिन वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रेथवेट के इरादे कुछ और ही थे, उन्होंने 4 गेंदों में 4 लगातार छक्के जड़कर मैच को वेस्टइंडीज के झोली में डाल दिया, और वेस्टइंडीज t20 वर्ल्ड कप 2 बार जीतने वाली पहली टीम बनी।

अब आगे वर्ल्ड क्रिकेट का शेड्यूल बहुत ही व्यस्त होने वाला था t20 वर्ल्ड कप के लगातार आयोजनों से अन्य प्रारूप दर्शकों को उबाऊ लगने लगे थे जिस कारण फैसला किया गया की अगला t20 वर्ल्ड कप 2020 में आयोजित किया जायेगा।

और यह इसलिए भी जरूरी था क्युकी 2017 में चैंपियंस ट्रॉफ़ी और 2019 में odi क्रिकेट विश्व कप का आयोजन होना था, जिससे खिलाड़ियों और उनके बोर्ड्स पर भी अतिरिक्त दबाव था।2017 चैंपियंस ट्रॉफ़ी पाकिस्तान ने जीता और क्रिकेट वर्ल्ड कप को इंग्लैंड ने , भारत को दोनो जगह निराशा हाथ लगी,

अगला t20 वर्ल्ड कप को आयोजन करने का मौका पुनः भारत को मिला जो अक्टूबर 2020 में खेला जाना था, लेकिन शायद भगवान की कुछ और ही इच्छा थी पूरे विश्व को कोरोना नामक प्रकोप ने घेर लिया, मानो पूरे विश्व में ताला लग गया हो, पूरे एक साल कोई भी क्रिकेट का इवेंट नही हो सका , इसलिए यह तय किया गया की क्रिकेट को पुनः जीवित करने के लिए t20 वर्ल्ड कप का आयोजन हो जिसकी मेजबानी बीसीसीआई और भारत करे, लेकिन भारत में महामारी के चलते बीसीसीआई ने आयोजन को यूएई में शिफ्ट करने का सोचा,

2021 में t20 वर्ल्ड कप यूएई में आयोजित हुआ जिसके फाइनल में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने जगह बनाई, इस मैच को ऑस्ट्रेलिया ने एकतरफा जीत के साथ अपने नाम किया और t20 वर्ल्ड कप में पहिली बार कब्जा जमाया।

भारतीयों समर्थकों के लिए यह विश्व भुला देने योग्य था, पर उन्हे ज्यादा लंबा इंतजार नही करना था क्युकी अगले साल 2022 में फिर से t20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ जिसकी मेजबानी गत विजेता ऑस्ट्रेलिया को मिली , इस वर्ल्ड कप के फाइनल का दृश्य बड़ा ही दिलचस्प था, एक तरफ इंग्लैंड थी

जो अपने प्रतिद्वंदी को रौंदते हुए फाइनल में पहुंची थी तो दूसरी तरफ पाकिस्तान जो लगभग टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी थी लेकिन किसी तरह फाइनल में पहुंच चुकी थी, मुकाबला दिलचस्प था क्योंकि दोनों ही टीम अपना तीसरा t20 वर्ल्ड कप फाइनल खेलने जा रही थी तथा दोनो ही टीम यह कप एक एक बार जीत चुकी थी, लिहाजा तय था की इस मैच की विजेता टीम वर्ल्ड चैंपियन तों बनेगी ही लेकिन t20 वर्ल्ड कप को 2 बार जीतने वाली वेस्टइंडीज के बाद दूसरी टीम बन जायेगी,

मैच एकतरफा सा लगने लगा था क्योंकि पहले इनिंग में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को केवल 138 रन की चुनौती दी थी, अब दूसरे इनिंग में टक्कर था पाकिस्तान के मजबूत बॉलिंग और इंग्लैंड के दमदार बैटिंग लाइनअप के बीच, यह द्वंद रोमांचक रहा लेकिन जीत इंग्लैंड के नाम हुई, और इंग्लैंड t20 वर्ल्ड कप 2 बार जीतने वाली दूसरी टीम बन गई।

  • 2007:– भारत

  • 2009:– पाकिस्तान

  • 2010:– इंग्लैंड

  • 2012:– वेस्टइंडीज

  • 2014:– श्रीलंका

  • 2016:– वेस्टइंडीज

  • 2021:– ऑस्ट्रेलिया

  • 2022:– इंग्लैंड

विश्व क्रिकेट में सबसे सफल कप्तान कौन है? king of captain 2023

जैसा कि आप देख पा रहे है की भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया ने t20 वर्ल्ड कप को एक एक बार तथा वेस्टइंडीज और इंग्लैंड ने इसे 2–2 बार जीता है।

अगला टी20 वर्ल्ड कप कब और कहां है?

अगला t20 वर्ल्ड कप 2024 में आयोजित होना है जिसे वेस्टइंडीज और USA संयोजित रूप से मेजबानी करेगी, एक भारतीय होने के नाते मैं आशा करता हु की अगला वर्ल्ड कप भारत ही जीते।

FAQ

प्रश्न 1: कौन सी टीम ने सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीते हैं?

उत्तर: अब तक, भारतीय क्रिकेट टीम ने सबसे ज्यादा T20 वर्ल्ड कप जीते हैं। वह इस खिताब का गर्व से धारण कर रही है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रश्न 2: T20 क्रिकेट का पहला मैच कहाँ और कब खेला गया था?

उत्तर: T20 क्रिकेट का पहला मैच 2004-05 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। यह मैच ऑकलैंड, न्यूजीलैंड में खेला गया था।

प्रश्न 3: क्या क्रिकेट के पंडितों की चिंता सही थी जब T20 क्रिकेट शुरु हुआ था?

उत्तर: कुछ क्रिकेट पंडितों की चिंता सही थी, लेकिन T20 क्रिकेट ने उनकी चिंता को खारिज कर दिया। यह प्रारूप क्रिकेट की लोकप्रियता में वृद्धि करने में मदद करता है।

प्रश्न 4: महेंद्र सिंह धोनी ने किस प्रकार से T20 क्रिकेट की दुनिया में अपनी जगह बनाई?

उत्तर: महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी नेतृत्व कौशल से T20 क्रिकेट की दुनिया में अपनी जगह बनाई। उनका प्रदर्शन और नेतृत्व टीम को विजयी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

प्रश्न 5: T20 क्रिकेट ने क्रिकेट की लोकप्रियता में कैसे वृद्धि की?

उत्तर: T20 क्रिकेट ने क्रिकेट को जनसमुदाय के बीच और भी लोकप्रिय बनाया है। इस प्रारूप की रोमांचक और गतिशीलता ने लोगों को आकर्षित किया है और क्रिकेट की लोकप्रियता में वृद्धि की है।

Leave a Comment

आईपीएल 2024 में हैट्रिक छक्का लगाने वाले खिलाड़ियों की सूची आईपीएल 2024 की सबसे तेज अर्धशतक लिस्ट IPL 2024 में किस भाई के आपने भाई को 4.5 करोड रुपए ठगा। सौतेले भाई वैभव ने ठगा हार्दिक और कुणाल पंड्या को 4.5 करोड रुपए आईपीएल 2024 में पहला शतक विराट कोहली